National Doctors Day क्यों मनाया जाता है और कब मनाया जाता है | राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस निबंध, उद्देश्य, थीम और महत्व क्या है ?

Doctor day kab manaya jata hai | doctors day kab hai | चिकित्सक दिवस कब मनाया जाता है | national doctors day in hindi :- कहते है की डॉक्टर्स को भारत मे और पूरी दुनिया में भगवान का दर्ज़ा दिया जाता है। इस दुनिया में जन्म लेने के बाद डॉक्टर्स ही है जो हमे किसी भी बीमारी से बचने के लिए हर संभव कोशिस करते है।

मनुष्य और भगवान और मनुष्य और डॉक्टर का रिश्ता एक जैसा होता है, जब भी इंसान की सारी उम्मीद खत्म हो जाती है तो या तो भगवान की याद आती है या फिर डॉक्टर्स की।

चिकित्सा के क्षेत्र में डोक्टरों ने दिन पे दिन तरक्की ही की है। आज बड़े से बड़ी बीमारी को डॉक्टर ठीक कर सकता है। विज्ञान के चमत्कारों की मदद से आज डॉक्टर यहाँ तक पहुँच पायें है।

इस कोरोना वायरस जैसी घातक महामारी में जब सबने हाथ खड़े कर दिए तो डॉक्टर्स ने सभी को सहारा दिया उनकी मदद की और उनकी जान बचाने की पूरी कोशिश की। इसी महामारी की आंख में आंख डालकर डाक्टर्स इसका सामना लगातार कर रहे हैं। खतरों का डटकर सामना करने वाले यह डाक्टर बतला रहे हैं कि वह अपनी जान पर खेलकर अपना फर्ज निभाने को हमेशा तैयार हैं। इसी दिन यानी की 01 जुलाई को डॉक्टर्स को सम्मान देने के लिए यह दिन यानी डॉक्टर्स डे मनाया जाता है।

National Doctors Day

चिकित्सक दिवस कब मनाया जाता है (Doctor day kab manaya jata hai)

तो आपको बतादे की National Doctors Day कब मनाया जाता है – National Doctors Day यानी की राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस हर साल 01 जुलाई को मनाया जाता है। यह दिन देश के सभी डॉक्टर्स के द्वारा किये गए उनके काम को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है।

दूसरे देशो में कब मनाया जाता है Doctors Day ?

अब हम आपको कुछ और देशो के बारे में बताने जा रहे है जहां की भारत देश की तरह ही Doctors Day मनाया जाता है लेकिन किसी और तारिक को।

देशतारिक
Australia30th of March
Kuwait3rd of March
BrazilOctober 18
CanadaMay 1
CubaDecember 3
Indonesia24 October
IranAugust 23
Malaysia10th of October
Turkey14th of March
United StatesMarch 30
Nepal4 March
VietnamFebruary 27

भारत में कब मनाया गया पहला National doctors day ?

भारत में इसकी शुरुआत 1991 में तत्कालिक सरकार द्वारा की गई थी। तब से हर साल 1 जुलाई को नेशनल डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। भारत के महान चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री को सम्मान और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।

National Doctors Day की शुरुआत कैसे हुई/इतिहास

जैसे की हमने आपको बताया की Doctors Day दुनिया के कई देशो में अलग-अलग तरीको को मनाया जाता है और हर देश में Doctors Day मनाने के पीछे अलग इतिहास है। लेकिन हम यह आपको Doctors Day से जुड़ा भारत का इतिहास बताने वाले है।

भारत में इसकी शुरुआत 1991 में तत्कालिक सरकार द्वारा की गई थी। तब से हर साल 1 जुलाई को नेशनल डॉक्टर्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को पूरे भारत में पौराणिक चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दुसरे मुख्यमंत्री का सम्मान करने एवं उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए सुनिश्चित किया गया जिनका नाम डॉ. बिधानचंद्र रॉय था। इनका जन्‍मदिवस और पुण्यतिथि दोनों इसी तारीख को पड़ती है यानी की 01 जुलाई को, इनका जन्म 1882 में बिहार के पटना शहर में हुआ।

कोलकाता में मेडिकल की शिक्षा पूरी करने के बाद डॉ. राय ने एमआरसीपी और एफआरसीएस की उपाधि लंदन से प्राप्त की। 1911 में उन्होंने भारत में चिकित्सकीय जीवन की शुरुआत की।

कुछ समय बाद वे राजनीति में आ गए। वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सदस्य बने और बाद में पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री का पद भी संभाला। डॉ. राय को 1961 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था।

वे देश के एक प्रसिद्ध चिकित्सक और प्रसिद्ध शिक्षाविद के साथ-साथ स्वतंत्रता सेनानी भी थे, क्योकि उन्होंने महात्मा गाँधी के द्वारा किये गये आंदोलनों में हिस्सा लिया था, और उनके द्वारा किये गये अनशन में उनकी देखभाल भी की थी। ऐसे महान व्यक्तित्व को सम्मान देने और याद करने के लिए ही डॉक्टर्स डे की शुरुआत की गई।

नेशनल डॉक्टर्स डे 2022 की थीम क्या है ?

हर साल की तरह इस साल भी नेशनल डॉक्टर्स डे की थीम रखी गयी है और इस साल यानि की 2022 की थीम है “Family Doctors on the Front Line” फ्रंट लाइन पर फैमिली डॉक्टर”।

वर्ष 2022 का थीमFamily Doctors on the Front Line
वर्ष 2021 का थीमBuilding the Future with Family Doctors
वर्ष 2020 का थीमLessen the mortality of COVID-19
वर्ष 2019 का थीमZero tolerance to violence against doctors and clinical establishment
वर्ष 2018 का थीमFamily doctors –leading the way to better health

नेशनल डॉक्टर्स डे से जुड़े कुछ नारे

राष्ट्रीय एवं विश्व डॉक्टर्स डे से जुड़े हुए कुछ नारे इस प्रकार हैं –

  • एक अच्छा डॉक्टर एक लंबे पर्चे की बजाएं लंबी सलाह देता है.
  • बीमारी का निदान अंत नहीं है बल्कि अभ्यास की शुरुआत है.
  • वह व्यक्ति डॉक्टर नहीं हो सकता, जो खुद ही बीमार हो.
  • अपने डॉक्टर से कभी झूठ नहीं बोलना चाहिये, आप अपने डॉक्टर से आपकी बीमारी से जुड़ी कोई भी बात मत छिपाओ.
  • संसार में डॉक्टर ही हैं जिसे मनुष्य आस भरी नजरो से देखता है, जैसे वो एक भगवान से दुआ कर रहा हो

आज आपने क्या सीखा

तो अब आप जान गए होंगे कि National Doctors Day क्यों मनाया जाता है और कब मनाया जाता है | राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस निबंध, उद्देश्य, थीम और महत्व क्या है ?

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको मेरा ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आप जो जानकारी जानना चाहते है वो आपको मिलगई होगी। हम अपने आर्टिकल में सारि जानकारी देने की कोशिश करते है आसान भाषा में जिससे की आपको किसी दूसरे आर्टिकल को न पढ़ना पड़े। आपको यह जानकर ख़ुशी होगी की आप हमसे टेलीग्राम पर भी जुड़ सकते है।

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों, फॅमिली के साथ शेयर कर सकते है और आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में भी लिख सकते है। और अगर आपको लगता है की हमारे इस आर्टिकल में कुछ रह गया है या गलत है तो आप हमे जरूर कमेंट बॉक्स में बताये। धन्यवाद

ये भी पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *