National Cancer Survivors Day क्यों और कब मनाया जाता है | Cancer Survivors Day in Hindi

Cancer survivors day | cancer divas kab manaya jata hai | National cancer survivors day 2022 theme | Cancer day kab manaya jata hai | कैंसर दिवस कब मनाया जाता है :- तो क्या आप जानना चाहते है की National Cancer Survivors Day कब मनाया जाता है और क्यों मनाया जाता है ? Cancer Survivors Day से जुडी सारी जानकारी पढ़ने के लिए आर्टिकल को पूरा और ध्यान से पढ़े।

आपको बतादे की कैंसर सर्वाइवर डे की स्थापना उन लोगों को पहचानने और मनाने के लिए की गई थी, जिन्होंने कैंसर से जंग जीती है और इस भयानक बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए उम्मीद जगाने में मदद की है। तो चलिए बिना देरी किये Cancer Survivors Day से जुडी जानकारी के बारे में जानते है।

National Cancer Survivors Day

National Cancer Survivors Day Kab Manaya Jata Hai

तो हम आपको बतादे की National Cancer Survivors Dayकब मनाया जाता है – जून के पहले रविवार को और इस साल 2021 में 06 जून को National Cancer Survivors Day मनाया जायेगा।

यह उन लोगों के लिए एक उत्सव है जो कैंसर से बच गए हैं, और हाल ही में कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए एक प्रेरणा।

हजारों लोग दुनिया भर में कैंसर से बचे लोगों को सम्मानित करने और दुनिया को यह दिखाने के लिए इकट्ठा होते हैं कि कैंसर के निदान के बाद का जीवन पूर्ण, पुरस्कृत और प्रेरक हो सकता है।

YearDateDay
2022June 5Sunday
2023June 4Sunday
2024June 2Sunday
2025June 1Sunday
2026June 7Sunday

Cancer Survivors Day का इतिहास

नेशनल कैंसर सर्वाइवर्स डे की घोषणा पहली बार मेरिल हेस्टिंग्स द्वारा National Coalition for Cancer Survivorship में 20 नवंबर, 1987 को अल्बुकर्क, न्यू मैक्सिको में की गयी थी। बाद में, हेस्टिंग्स ने International Class 042 service के रूप में नाम दर्ज किया, साथ ही पल्स प्रकाशन के नाम पर United States Patent and Trademark Office में पंजीकरण कराया।

पहला राष्ट्रीय कैंसर उत्तरजीवी दिवस 5 जून, 1988 को आयोजित किया गया था।

कैंसर सर्वाइवर डे की स्थापना उन लोगों को पहचानने और मनाने के लिए की गई थी, जिन्होंने कैंसर से जंग जीती है और इस भयानक बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए उम्मीद जगाने में मदद की है।

कैंसर क्या होता है (Cancer kya hota hai)

मानव शरीर कईं अनगिनत कोशिकाओं यानी सैल्स से बना हुआ है। हमारे शरीर में कोशिकाओं (सेल्स) का लगातार विभाजन होता रहता है और यह सामान्य-सी प्रक्रिया है, जिस पर शरीर का पूरा कंट्रोल रहता है। लेकिन जब शरीर के किसी खास अंग की कोशिकाओं पर शरीर का कंट्रोल नहीं रहता और कोशिकाएं बेहिसाब तरीकेसे बढ़ने लगती हैं, उसे कैंसर कहा जाता हैं।

जैसे-जैसे कैंसर ग्रस्त कोशिकाएं बढ़ती हैं, वे ट्यूमर (गांठ) के रूप में उभर आती हैं। हालांकि हर ट्यूमर में कैंसर वाले सेल्स नहीं होते लेकिन जो ट्यूमर कैंसर ग्रस्त है, अगर उसका इलाज नहीं किया जाता है तो यह पूरे शरीर में फैल सकता है।

शरीर में नए सेल्स और पुराने सेल्स के बदलाव की प्रक्रिया में कैंसर हो सकता है। सामान्य तौर पर शरीर में कुछ नए सेल्स बनते हैं और पुराने सेल्स टूटते हैं जिनके असमान्य जमाव से कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है।

कैंसर कैसे शुरू होता है (Cancer shuru kaise hota hai)

कोशिका के जीन में बदलाव से कैंसर की शुरुआत होती है। जीन में बदलाव, यह स्वंय भी बदल सकते हैं या फिर दूसरे कारणों की वजह से ऐसा हो सकता है, जैसे- गुटका-तंबाकू जैसी नशीली चीजें खाने से, अल्ट्रावॉलेट रे या फिर रेडिएशन आदि इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ।

अमूमन इम्यून सिस्टम ऐसी कोशिकाओं को खत्म कर देता है, लेकिन कभी-कभार कैंसर की कोशिकाएं इम्यून सिस्टम पर हावी हो जाती हैं और फिर बीमारी अपनी चपेट में ले लेती है।

कैंसर से दूर रहने के सरल तरीके (Cancer se kaise bache)

  • विश्‍व में कैंसर से बचने के लिए तम्‍बाकू से बचाव एकमात्र उपाय है।
  • कैंसर का वजन अधिक होने और मोटापे से सीधा संबंध है।
  • फलों और सब्जियों की अधिकता वाला भोजन लेने से कई प्रकार के कैंसर से लड़ने में सहायता मिलती है।
  • सूर्य की किरणों से बचना।
  • नियमित शारीरिक व्‍यायाम और सही शारीरिक वजन कैंसर का खतरा कम कर सकते है।

आज आपने क्या सीखा

तो अब आप जान गए होंगे कि कैंसर क्या है ? Cancer Survivors Day क्यों मनाया जाता है ? Cancer Survivors Day कब मनाया जाता है ? Cancer शुरू कैसे होता है।

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको मेरा ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आप जो जानकारी जानना चाहते है वो आपको मिलगई होगी। हम अपने आर्टिकल में सारि जानकारी देने की कोशिश करते है आसान भाषा में जिससे की आपको किसी दूसरे आर्टिकल को न पढ़ना पड़े। आपको यह जानकर ख़ुशी होगी की आप हमसे टेलीग्राम पर भी जुड़ सकते है।

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों, फॅमिली के साथ शेयर कर सकते है और आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में भी लिख सकते है। और अगर आपको लगता है की हमारे इस आर्टिकल में कुछ रह गया है या गलत है तो आप हमे जरूर कमेंट बॉक्स में बताये। धन्यवाद

ये भी पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published.